Subscribe for notification

जरूरतमंदों की सेवा में आगे आया भारतीय बौद्ध संघ

By Gorakhpur Express News

भारतीय बौद्ध संघ नें गोरखपुर क्षेत्र में जरूरमन्दों की मददत में सबसे आगे आया है। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण हुई लाकडाऊन में मजदूरों, बासफोरों आदि गरीबों के समक्ष भूखमरी की स्थिति आ गयी थी। भारत यशस्वी प्रधानमंत्री श्री मोदी जी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी के सुझाव था कि समाज के लोग ,इन्हे भूखमरी से बचावें, के क्रम में भारतीय बौद्धसंघ, सबसे आगे रहा। संघ ने लाकडाऊन के दौरान जरूरमन्दों को 14000 पैकेट भोजन वितरित कर एक अहम योगदान निभाया है।

इस सन्दर्भ में भारतीय बौद्धसंघ उ०प्र० के प्रदेश महासचिव श्री सिद्धार्थ कुमार नें बताया कि संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष , परमपुज्य भन्ते संघप्रिय राहुल जी नें निर्देश दिया था कि गोरखपुर सहित अन्य शहरों में गरीबों को प्रतिदिन भोजन वितरित किया जाय। कोई भी मजबूर भूखों नहीं सोना चाहिए, क्योकि महात्मा बुद्ध नें कहा था कि अगर हमारा पड़ोसी भूखा हो तो, हमको भोजन करनें का अधिकार नहीं है।अतः हम सभी को यह लक्ष्य लेकर चलना होगा कि ….. ” एक भी गरीब, भूखों सोया, तो लक्ष्य हमारा खोया” । मान्यनीय भन्ते जी के निर्देश के तहत, गोरखपुर में प्रतिदिन चरगाँवा, खजान्ची, मेडिकल कालेज, कलक्टरी, पादरीबाजार दलितबस्ती, फातिमा बसफोड़ बस्ती, लक्ष्मीपुर, जंगलमातादीन, धरमपुर लेबर तिराहा, बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन जेलरोड,मोहनापुर, आदि स्थानों में 13 मई तक चौदह हजार, एक सौ चौंतीस पैकेट भोजन वितरित किया गया।

हाँलाकि गोरखपुर में और भी स्वैक्षिक संगठन तथा उत्साही व्यक्ति हैं जो भोजन पैकेट वितरित कर रहें हैं किन्तु भारतीय बौद्धसंघ सबसे आगे आकर 14134 भोजन पैकेट वितरित करने में अपना योगदान दिया है ।
सिद्धार्थ कुमार नें आगे बताया कि भारतीय बौद्धसंघ की उक्त समाजसेवा की अधिकारियों, मीडियावन्धुओं एवं समाज के प्रबुद्धवर्ग नें काफी सराहना ही नहीं की,अपितु प्रशस्तिपत्र देकर मुझे सम्मानित भी किया।
सिद्धार्थ जी नें आगे बताया कि मान्यनीय भन्ते जी के निर्देश पर जब तक लाकडाऊन रहेगा, तब तक भोजन पैकेट वितरित होता रहेगा। मेरे सहयोगी बंधुओं में प्रभाकर पाण्डेय, आकाश सिंह, मुख्तार अहमद, आशीष मिश्र, भोला सिंह, राघवेन्र्द सिंह आदि द्वारा तन-मन-धन से सहयोग किया , जो सराहनीय रहा।मेरे पिता श्री हरिनाथ भाई जो भाजपा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष तथा उप्र० अनु०जाति, अनु०जनजाति आयोग के सदस्य हैं, नें इस पुण्यकाम में मेरा हमेशा सहयोग किया। कभी – कभी तो भोजन की गुणवत्ता देखनें आ जाते तथा प्रसाद का रसास्वादन भी करते।

Gorakhpur Express News

Leave a Comment