दो जिलों को जोड़ने वाला जटहाँ -खिरकिया मार्ग की हालत खस्ता खतरों से खेलकर यात्रा करने पर यात्री विवश

Gorakhpur Express News

कुशीनगर -( अजहर खान गोलू)  जनपद के व्यस्ततम सड़कों में से एक जटहां-खिरकिया मार्ग भी है। जिसका निर्माण 1967 के लगभग हुआ था।

तब से अब तक सड़क केवल लेपन मरम्मत का कार्य हुआ है।आज तक सड़क का उच्चीकरण कार्य नही कराई गई है।

नतीजा खिरकिया से जटहां बाजार मार्ग में जगह जगह सड़क की रोड़े उखड़ गई है यहा वहा गड्ढे बन गए है।इस बरसात में सड़कों पर पानी भरा होने व कीचड़ युक्त बनी सड़क में बाइक ,साइकल,छोटी बड़ी वाहनों का चलना मुश्किल बना हुआ है वही बाइक पर सवार महिलाएं गिरकर कर अस्पताल में पहुच रही है।

बताते चले कि यह सड़क पडरौना से उत्तर निवास करने वाली विशुनपुरा विकास खंड व खड्डा क्षेत्र के लगभग 50 ग्राम सभा के अलावा बिहार के पिपरासी प्रखंड के दर्जनों गांव के लोगों के आवागमन का जरिया है।इस मार्ग से बिहार के दर्जनों ग्राम सभा के लोग इसी मार्ग से पडरौना आते जाते हैं।बिहार बार्डर से जुड़े होने के कारण यह मार्ग बिहार संपर्क मार्ग भी है।

विदित हो कि सड़क निर्माण के बाद इस सड़क का केवल मरम्मत किया जाता रहा है। यही कारण है कि इस सड़क की हालत वर्तमान समय में काफी दयनीय हो गई है यह सड़क कई जगहों पर खंडहर में तब्दील हो गया है हल्की सी बरसात में भी सड़क पूरी तरफ पानी में डूब जाता है। जिसके कारण राहगीरों को रास्ता चलने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

सही कहा जाए तो सड़क पैदल चलने लायक भी नहीं रह गया है।बरसात के मौसम में इस सड़क पर चलने वाले राहगीर कई बार गिरकर भयंकर रूप से चोटिल हो जाते हैं तो कभी संतुलन बिगड़ जाने के कारण गाड़ियां आपस में टकरा जाती हैं।

शासन और प्रशासन द्वारा इस सड़क की उपेक्षा करने के कारण क्षेत्रीय ग्रामीण काफी निराश व क्षुब्ध है।जटहां-खिरकिया संपर्क मार्ग के गांवों के लोंगो ने सड़क की उच्चीकरण चौड़ीकरण निर्माण करवाने की मांग किया है।