अपराधताजा ख़बरेंब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

महाराजगंज: मनरेगा में बिना काम कराए फर्जी तरीके से लाखों का करा लिया गया भुगतान ग्रामीणों ने लगाया आरोप

आनंद कुमार गुप्ता ब्यूरो चीफ महाराजगंज, गोरखपुर एक्सप्रेस न्यूज़/ गांव वाले रिपोर्टर

मनरेगा में घपलेबाजी ,बिना कार्य कराए चार लाख का हुआ भुगतान

प्रधान और सेक्रेटरी की घपलेबाजी से ग्रामीण परेशान

ग्रामीणों ने लगाए आरोप ,दो साइड पर कराया गया चार लाख का भुगतान

यूपी के जनपद महाराजगंज में मनरेगा घोटाले का मामला भी ठंडा भी नहीं हुआ था कि जनपद के नौतनवा तहसील के नरायनपुर गाँव में मनरेगा से चार लाख के घोटाले का मामला सामने आया है ।

बताते चलें कि ग्राम प्रधान जय प्रकाश रौनियर और सेक्रेटरी मनोज प्रजापति की मिलीभगत से 2 साइड पर “हरखपुरा सिवान से हरपुर सिवान तक” और “लोरीक के घर से सोनिया नाला तक” कार्य दिखाया गया है।
जबकि ग्राउंड रिपोर्ट में सालों से कोई कार्य दिखाई नहीं दिया ।

वहीं जब जिस लोरिक के घर से सोनिया नाला तक कार्य मे लोरिक का जिक्र किया गया हैं। उससे बात होने पर लोरिक ने बातचीत में बताया कि किया इस पर सालों से कोई कार्य नहीं हुआ । सभी प्रधान इसमें धन का बंदरबाट करते हैं ।
दर्जनों ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए बताया कि प्रधान और सेक्रेटरी के द्वारा मिलीभगत से अपने चहेतों के खाते में धन भेजवा कर बंदरबांट की गई है ।
जिसको लेकर लिखित शिकायत जिला अधिकारी महाराजगंज डॉ उज्जवल कुमार को दिया जा चुका है ।
वही ग्राउंड जीरो पर पड़ताल के दौरान हरपुर सिवान से हरखपुरा सिवान तक के बीच कई जगह चकरोड 35 से चालीस फिट तक कटा दिखाई दिया। तथा कई जगह बड़े-बड़े घास दिखाई दिए ।
वही जब सेक्रेटरी मनोज प्रजापति से जानकारी ली गई तो बताया कि मानक के अनुरूप कार्य कराया गया है और ऐसा किया गया है तो सत्यापन करया जाएगा ।
सबसे बड़ा सवाल जब कोई कार्य हुआ ही नहीं हुआ तो घपलेबाजी में माहिर सेक्रेटरी किस मानक की उदाहरण दे रहा है ।
मुख्य विकास अधिकारी गौरव सिंह सेगरवाल ने बताया कि टीम गठित कर दी गई है ।
दोषी पाए जाने पर जल्द कार्रवाई की जाएगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close