राजनीति

विधायक बना तो सिंदुरिया-चिऊटहाँ-सिसवा सड़क बनेगी सात मीटर चौड़ी: पूर्व मंत्री सुशील टिबड़ेवाल

पूर्वांचल का लोकप्रिय चैनल गोरखपुर एक्सप्रेस न्यूज़

विधायक बना तो सिंदुरिया-चिऊटहाँ-सिसवा सड़क बनेगी सात मीटर चौड़ी: पूर्व मंत्री सुशील टिबड़ेवाल

सिसवा (महराजगंज): किसानों पर जितना अत्याचार केंद्र सरकार ने किया है, उतना किसी सरकार ने नहीं किया। आज महँगाई से हर कोई परेशान है, यदि महँगाई मिटाना है तो भाजपा को हराना होगा। यह कहना है उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार टिबड़ेवाल का।

श्री टिबड़ेवाल रविवार को सिसवा विधान सभा के दो दर्जन गावों चिऊटहाँ, गौनरिया, जहदा, जगन्नाथपुर जौरहर, हेवती, सबया, बिसोखोर, कटहरी, रमपुरवा, कमता, भारत खंड पकड़ी, भोथियाही, सँडा, बलहीखोर, बूढ़ाडीह, अरदौना आदि में चौपाल लगाकर व नुक्कड़ सभा कर अखिलेश यादव की नीतियों के बारे में लोगों को बता रहे थे।

इस दौरान सपा विधान सभा अध्यक्ष विद्या सागर यादव, वरिष्ठ नेता भोला यादव, लोहिया वाहिनी के प्रदेश सचिव ऋषभ ओझा, यूथ बिग्रेड के अध्यक्ष शमीम खान, वरिष्ठ नेता यश त्रिपाठी, डॉक्टर एएच खुसरु, ज़िला सचिव राकेश सिंह रिंकु, कोषाध्यक्ष शैलेश सुल्तानिया, ज़िला सचिव कुंदन सिंह, व्यापार मंडल के नेता शैलेश अग्रवाल, घनश्याम बेलदार, शौक़त अली, ऋषभ दूबे, मुन्ना बरनवाल, लड्डन सिद्दीकी, राजकिशोर प्रजापति, अमन, सुदामा, आशुतोष ओझा, इंद्रजीत यादव, मनीष मिश्रा, जितेंद्र यादव, अनिकेत श्रीवास्तव, सत्यम पटेल, जावेद खान, आज़म अरबाज़, सलीम खान, राजकुमार चतुर्वेदी, शराफ़त अंसारी, अमेरिका निषाद, मोरवन के ग्राम प्रधान आदि बड़ी संख्या में आम जनता और सपा के कार्यकर्ता मौजूद थे।

पूर्व मंत्री सुशील टिबड़ेवाल ने चौपाल व नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज मोदी सरकार हर एक चीज़ बेचने पर लगी है, यह सरकार की जनविरोधी नीति का सबसे बड़ा सबूत है, सड़कों की हालत क्या है इसका सबसे बड़ा सबूत सिंदुरिया से लेकर चिऊटहाँ, हेवती से लेकर सिसवा की सड़क है। मैं यदि जीता तो ये सड़क तीन मीटर की जगह सात मीटर की बनेगी। जब मैं मंत्री था तब मैंने महराजगंज-मिठौरा-निचलौल सड़क को तीन से सात मीटर कराने का काम किया था।

सिसवा में अब तक राजा का राज रहा यही कारण है कि विकास नहीं हुआ, यदि मैं सिसवा से जीता तो मैं हर एक उस घर को रोशन करूँगा जहां वर्षों से अंधेरा है।

मोदी ने सिर्फ़ अम्बानी और अड़ानी का विकास किया। आज मोबाइल के रिचार्ज का रेट दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। बैंक का निजीकरण क्यों किया जा रहा है। यह बड़ा सवाल है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close