Subscribe for notification
Categories: Breaking News
| On 3 सप्ताह ago

झारखंड : बुजुर्ग मां की मौत के बाद 5 बेटो की मौत

By Gorakhpur Express News

शादी समारोह में भाग लेने 89 वर्षीय महिला 24 जून को दिल्ली से धनबाद आई थीं। 26 जून को तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें चास में भर्ती कराया गया था। कोरोना जांच रिपोर्ट आने के पहले ही 4 जुलाई को उनकी मौत हो गई थी। मां की मौत के बाद सबसे पहले 60 वर्षीय छोटे बेटे की मौत इलाज के दौरान 10 जुलाई को पीएमसीएच में हो गई थी। शव की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद क्रमश: 11, 12 और 17 जुलाई को तीन भाईयों ने एक-एक कर दम तोड़ दिया।

झारखंड के कतरास में कोरोना वायरस ने 16 दिन के अंदर एक परिवार के 5 लोगों की जान ले ली। शादी में शामिल होने के बाद परिवार की बुजुर्ग महिला की तबियत बिगड़ गई और कोरोना से उनकी मौत हो गई। इसके बाद एक एक करके परिवार के 4 और लोगों की कोरोना से मौत हो गई। जबकि इस बीच परिवार के एक व्यक्ति ने कैंसर के चलते दम तोड़ दिया

शादी समारोह और परिवार पर आफतों की शुरुआत

जून के आखिरी हफ्ते में कतरास के रानी बाजार में व्यवसायी परिवार शादी की तैयारियां कर रहा था। 27 जून को शादी हुई और परिवार की सबसे बुजुर्ग 88 साल की महिला भी शामिल हुई। अगले दिन महिला की तबियत बिगड़ी और यहीं से अस परिवार पर आफतों की शुरुआत हुई। अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद उसे बोकारो के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। उसकी मौत के बाद जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले महीने शादी की शहनाई की गूंज से घर में खुशनुमा माहौल था। हंसता-खिलखिलाता परिवार धूम-धड़ाके मस्ती की खुशियों में मग्न था, लेकिन एक पखवाड़े के अंदर ही इस परिवार में मौत ने ऐसा कोहराम मचाया कि देखते ही देखते सब-कुछ उजड़ गया।

बुजुर्ग मां की मौत  के बाद  बेटो की मौत

चास के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए 29 जून को भर्ती हुई मां की मौत चार जुलाई को हो गयी थी. शव का सैंपल लेकर जांच करायी गयी. सात जुलाई को बताया गया कि वह कोरोना से संक्रमित थी. मां के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया. यह इस परिवार में पहली मौत थी.

मां की मौत के बाद उनके एक बेटे ने रांची के रिम्स कोविड अस्पताल में दम तोड़ दिया. कुछ दिनों बाद दूसरे बेटे का केंद्रीय अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया. तीसरा बेटा, जो धनबाद के एक निजी क्वारंटीन सेंटर में भर्ती था, वहीं उनकी मौत हो गयी. बाद में उनका ड्राइवर उन्हें लेकर पीएमसीएच पहुंचा, लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

फिर 16 जुलाई को कोरोना का कहर परिवार पर टूटा और चौथे बेटे की भी टीमएच जमशेदपुर में कैंसर बीमारी के इलाज के दौरान मौत हो गयी. और महिला का पांचवां बेटा भी धनबाद के कोविड अस्पताल में रेफर करने के बाद रिम्स रांची में भर्ती था, जहां सोमवार (20 जुलाई) को उसने अंतिम सांस ली. देखते ही देखते एक पखवाड़े में एक पूरा परिवार कोरोना के कारण तबाह हो गया. वहीं, परिवार के कई और सदस्यों का भी इलाज चल रहा है

4 जुलाई : बुजुर्ग महिला की मौत 10 जुलाई : धनबाद में एक बेटे की मौत। कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।
11 जुलाई : धनबाद में ही दूसरे बेटे की मौत। कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।
12 जुलाई : रांची में तीसरे बेटे की मौत। वह भी कोरोना पॉजिटिव था।
16 जुलाई : जमशेदपुर के अस्पताल में चौथे बेटे की कैंसर से मौत। कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव थी।
19 जुलाई : रांची में पांचवें बेटे की मौत। कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

Gorakhpur Express News

Leave a Comment